News

नतीजों का निष्कर्ष निकालना जल्दबाज़ी

इसे स्वच्छ राजनीती की शुरुआत माना जाए या नहीं, यह इस पर निर्भर करेगा की पांच सालों में सत्ताधारी दल का प्रदर्शन कैसा रहेगा? यदि वह लोगों की अपेक्षाओं...
Continue Reading »
Recent Posts

दलों को पारदर्शिता से परहेज़ क्यों?

सीआईसी की सुनवाई कल, दलों के पास कामकाज में खुलापन लाने सम्बन्धी ब्योरा देने का अंतिम मौका      Prof. Jagdeep Chhokar Prof. Jagdeep S. Chhokar (Founder and Trustee,...
Continue Reading »
Recent Posts

भारतीय लोकतंत्र एवं चुनाव सुधार की आवश्यकता

चुनाव और उसका भ्रष्टाचार, अन्याय, धनबल की ताकत और तानाशाही और प्रशासन की अक्षमता, जीवन को नर्क बना देगी। Maj. Gen. Anil Verma (Retd.) An Army Officer, who retired...
Continue Reading »